पहले तो सौदेबाजी होती थी जिसे बार्टर सिस्टम कहते थे फिर कैश आया प्लास्टिक कार्डों को नकदी की तरह माना जाने लगा और अब, क्रिप्टो हैं

क्रिप्टो एक डिजिटल मुद्रा है जो विकेंद्रीकृत तरीके से संचालित होती है और एन्क्रिप्शन का उपयोग करती है

निचे वोट देने से आप और लोगो की राय जान  पाएंगे 

दूसरे शब्दों में, कोई केंद्रीय बैंक या सरकार इस मुद्रा को नियंत्रित नहीं करती है (यह विकेंद्रीकृत है)। यह डिजिटल है कि यह आभासी है

भौतिक धन की तरह नहीं। और यह मुद्रा की इकाइयों को उत्पन्न करने के लिए सुरक्षा सुविधाओं (एन्क्रिप्शन या क्रिप्टोग्राफी) का उपयोग करता है

जुड़िये क्रिप्टो इन्वेस्टर्स के व्हाट्सप्प ग्रुप से 

जुड़िये क्रिप्टो इन्वेस्टर्स के व्हाट्सप्प ग्रुप से